26 C
Ranchi
Saturday, October 24, 2020
Home Crime कानपुर में बदमाशों से मुठभेड़ में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद

कानपुर में बदमाशों से मुठभेड़ में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद

कानपुर में बदमाशों से मुठभेड़ में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद

उत्तर प्रदेश – कानपुर में देर रात शातिर बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुई ताबड़तोड़ फायरिंग में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए। एडीजी जय नारायण सिंह ने घटना की पुष्टि की है। चार पुलिसकर्मी घायल भी हैं। घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। पुलिस शातिर बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई थी।पुलिस के आलाधिकारी और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है।घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। आपको बता दें कि गुरुवार रात करीब साढ़े 12 बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस ने मिलकर विकास दुबे के गांव बिकरू में उसके घर पर दबिश दी।बिठूर एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विकास और उसके 8-10 साथियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं।गोलीबारी में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा और एसओ शिवराजपुर महेश यादव शहीद हो गए। उनके साथ करीब आठ पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं।जबकि एसओ बिठूर, एक दरोगा समेत कई पुलिसकर्मियों को गोली भी लगी है। जिन्हें गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कई पुलिसकर्मी लापता बताए जा रहे हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर की इस घटना में मारे गए पुलिसकर्मियों के प्रति शोक और उनके परिजनों से संवेदना प्रकट की है। योगी ने घटना की रिपोर्ट तलब की है और साथ ही डीजीपी एचसी अवस्थी से अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है।कई थानों की पुलिस मौके परएसओ कौशलेंद्र के एक गोली जांघ और दूसरी हाथ पर लगी। इसके अलावा सिपाही अजय सेंगर, अजय कश्यप, सिपाही शिवमूरत, दरोगा प्रभाकर पांडेय, होमगार्ड जयराम पटेल समेत सात पुलिसकर्मियों को गोलियां लगीं। सेंगर और शिवमूरत के पेट में गोली लगी। दोनों की हालत गंभीर है। सूचना के बाद कई थानों की फोर्स गांव पहुंची और घायलों को लेकर रीजेंसी अस्पताल लाया गया।सूत्रों ने बताया कि जिस तरीके से हमला हुआ, उससे आशंका है कि बदमाशों को पुलिस की दबिश की भनक मिल गई थी। जिस कारण उन्होंने तैयारी करके पुलिस पर हमला किया। पुलिस ने बताया कि विकास दुबे खूंखार अपराधी है जिस पर 2003 में शिवली थाने में घुसकर तत्कालीन श्रम संविदा बोर्ड के चेयरमैन राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त भाजपा नेता संतोष शुक्ला की हत्या का आरोप लगा था। बाद में वह इस केस से बरी हो गया था। इसके अलावा विकास पर प्रदेश भर में दो दर्जन से ज्यादा गंभीर केस दर्ज हैं।शहीद हुए पुलिसकर्मीक्षेत्राधिकारी बिल्हौर देवेंद्र मिश्राथाना प्रभारी शिवराजपुर महेश चंद्र यादवचौकी इंचार्ज मंधना अनूप कुमार सिंहसब इंस्पेक्टर नेबू लालसिपाही सुल्तान सिंहसिपाही राहुलसिपाही बबलूसिपाही जितेंद्र

Most Popular

साहिबगंज – दुर्गा पूजा के अवसर पर सद्भावना बनाये रखने हेतु पूजा समिति एवं पदाधिकारियों की बैठक सम्पन्न

उपायुक्त राम निवास यावद की अध्यक्षता में दुर्गा पूजा के अवसर पर ज़िले के विभिन्न पूजा समितियों थाना प्रभारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी...

गिरिडीह – जागरूकता वाहन के माध्यम से अपील किया गया कि कोविड-19 का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए आपसी सौहार्द एवं शांतिपूर्ण वातावरण में दुर्गा...

दिनांक 23.10.20 को उपायुक्त-सह-जिला दंडाधिकारी के निर्देश पर गिरिडीह शहर के विभिन्न क्षेत्रों में दुर्गा पूजा के निमित्त विधि व्यवस्था के संधारण...

साहिबगंज – उपायुक्त ने किया श्रमदान, सड़क पर लगाया झाड़ू

आज उपायुक्त राम निवास यावद की अध्यक्षता में पटेल चौक से गांधी चौक तक दुर्गा पूजा के अवसर पर साफ़ सफाई के...

रामगढ़ – दुर्गा पूजा के आयोजन के संबंध में अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा किया गया पतरातू प्रखंड अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण

रामगढ़: सरकार द्वारा दुर्गा पूजा 2020 के आयोजन के संबंध में जारी किए गए दिशा निर्देशों के आलोक में दिनांक 22 अक्टूबर...

Recent Comments