34 C
Ranchi
Sunday, February 28, 2021
Home Crime देवघर - 10 साइबर आरोपी पुलिस के गिरप्त में

देवघर – 10 साइबर आरोपी पुलिस के गिरप्त में

देवघर। पुलिस अधीक्षक अशिवनी कुमार सिन्हा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर ,साइबर डीएसपी नेहा बाला व मुख्यालय डीएसपी मंगल सिंह जामुदा व साइबर इंस्पेक्टर संगीता कुमारी की अगुवाई में साइबर थाना की पुलिस ने मारगोमुण्डा के द्वारपहाड़ी खागा के रघुनाथपुर,व दुमका जिला के मसलिया थाना अंतर्गत बेदियाचक गांव से छापेमारी कर कुल 10 साइबर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी अशिवनी कुमार सिन्हा ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि विभिन्न थाना क्षेत्रों में फिर साइबर अपराधी सक्रिय हो गए हैं छापेमारी में पकड़ा जा सकता हैं। उसी के आधार पर एसपी श्री सिन्हा ने साइबर डीएसपी नेहा बाला व मुख्यालय डीएसपी मंगल सिंह जामुदा व साइबर इंस्पेक्टर संगीता कुमारी की अगुवाई में साइबर टीम का गठन किया और छापेमारी करने का निर्देश दिया। एसपी श्री सिन्हा के निर्देश पर छापेमारी कर कुल 10 साइबर आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा।
*कैसे करते हैं ठगी*
प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी ने बताया कि ये लोग मोबाइल के सहायता से लोगों को कॉल लगाकर उसे किसी बैंक का ग्राहक अधिकारी बताकर उसे एटीएम बंद होने की जानकारी देता हैं और झांसे में लेकर उसके मोबाइल पर ओटीपी भेजकर उससे खाते से ठगी करते हैं। इतना ही नही ये लोग केवाईसी अपडेट के नाम पर भी ग्राहकों को ओटीपी भेजकर उससे ठगी करते हैं। एसपी ने यह भी बताया कि ये लोग विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक एप्प्स के साइट पर जाकर उसके साइट को छेड़छाड़ कर ग्राहक सेवा अधिकारी के नम्बर के जगह अपना नम्बर डाल देते हैं जिससे कि कोई भी यूजर जब ग्राहक सेवा अधिकारी से बात करने के क्रम में अपना डिटेल्स को साइबर अपराधियों को दे देते हैं जिससे की बड़ी आसानी से ठगी के शिकार बन जाते हैं। और जब वे पुनः बात करते हैं तो उसे रिफण्ड के नाम पर उसे फंसाकर उसके मोबाइल पर ओटीपी भेजकर उसके खाते से दोबारा ठगी कर लेते हैं। इतना ही नही अब ये लोग सीएसपी संचालक के मिलीभगत से भी साइबर अपराध का अंजाम देते हैं। गिरफ्तार साइबर अपराधियों में से एक सीएसपी संचालक भी हैं जो विभिन्न साइबर अपराधियों से अपने खाता में पैसा भेजवाकर उससे कमीशन स्वरूप 20 प्रतिशत भेजे राशि का लेते थे। गिरफ्तार साइबर आरोपियों के आपराधिक इतिहास के बारे में एसपी श्री सिन्हा ने बताया कि इस आरोपी कृष्णा मंडल का आपराधिक इतिहास है अन्य सभी साइबर आरोपियों के आपराधिक इतिहास की जांच की जा रही हैं। फिलहाल इनलोगों के विरुद्ध साइबर थाना में साइबर ठगी की प्राथिमिकी दर्ज कर जेल भेजने की तैयारी में जुटी हैं।
*किस किस की हुई गिरफ्तारी*
गिरफ्तार साइबर आरोपियों में कृष्णा मंडल पिता राजेन्द्र मंडल ,अर्जुन मंडल पिता – मुंशी मंडल , करण कुमार मंडल पिता बजरंगी मंडल, अरूण मंडल पिता – शहदेव मंडल, गुडू मंडल पिता – बालदेव मंडल निवासी द्वारपहाड़ी , थाना मारगोमुण्डा देवघर कयुम अंसारी पिता – सुल्तान मियाँ , निवासी रघुनाथपुर थाना खागा, सईम अंसारी , सरफुद्दीन अंसारी , सफीक अंसारी , रफीक अंसारी , निवासी बेदीया चक थाना मसलिया जिला दुमका के रहनेवाले है। जिसमे आरोपी कृष्णा मंडल पूर्व में भी साईबर अपराध के आरोप में महाराष्ट्र पुलिस द्वारा गिरफ्तार होकर जेल जा चुका है ।

Most Popular

आठ साल में भी 90 फीसदी झारखंड आंदोलनकारियों की नहीं हो पायी पहचान

रांची - हेमंत सोरेन की सरकार ने झारखंड आंदोलनकारियों को राज्य के तृतीय और चतुर्थ श्रेणी की नौकरियों में पांच फीसदी आरक्षण...

जियो का धमाका ऑफर, 1999 में नया जियोफोन और 2 साल तक फ्री कॉलिंग

नई दिल्ली - रिलायंस जियो, जियोफोन उपभोक्ताओं के लिए एक “नया जियोफोन 2021 ऑफर” ले कर आया है. यह एक बंडल...

झारखंड में अप्रैल से बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस, घर के पते पर भेजे जाएंगे लाइसेंस

रांची - झारखंड के ग्रामीण इलाकों में बाइक चालकों के लिए ड्राइविंग लाइसेंस बनाए जाएंगे. इसके लिए राज्य के 268 प्रखंडों में...

झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से हंगामेदार होने का आसार

रांची - झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज 26 फरवरी से शुरू होने जा रहा है. बजट सत्र के हंगामेदार होने के...

Recent Comments