30.1 C
Ranchi
Thursday, June 13, 2024
Advertisement
HomeLocal NewsGiridihगिरिडीह के नक्सल क्षेत्रों में लोकतंत्र के महापर्व का उत्साह उत्सव में...

गिरिडीह के नक्सल क्षेत्रों में लोकतंत्र के महापर्व का उत्साह उत्सव में हुुआ तब्दील, घरों से कम निकले शहर के वोटर, 64.75 फीसदी हुआ मतदान

गिरिडीह विस में 63.71 प्रतिशत और डुमरी विस 68.19 प्रतिशत मतदान हुआ

कमलनयन

गिरिडीह संसदीय क्षेत्र में शनिवार को छठे चरण में कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच छिटपुट घटनाओं को छोड़कर भयमुक्त माहौल में शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न हो गया। शाम 5 बजे तक सभी छह विस सीटों पर 64.75 प्रतिशत मतदान रहा। गिरिडीह विस में 63.71 प्रतिशत और डुमरी विस 68.19 प्रतिशत मतदान हुआ। इस बार नक्सली बूथों में पूरे समय यानी सुबह सात से शाम पांच बजे तक मतदान की प्रक्रिया बगैर कोई विघ्न-बाधा के चलती रही। गिरिडीह शहर की अपेक्षा गांंवों के लोग चिलचिलाती धूप में घर से निकल कर अपने बूथों तक पहुंचे और लंबी कतारों के बीच घंटों छाता लगाकर अपनी बारी का इंतजार किया.

उग्रवाद प्रभावित इलाकों में वोट को ले ग्रामीणों में भारी उत्साह

लम्बे समय के बाद गिरिडीह और डुमरी के उग्रवाद प्रभावित इलाकों में मतदान को लेकर ग्रामीणों में खासा उत्साह देखा गया। भाकपा माओवादियों की शरणस्थली के रूप में विख्यात पीरटांड़ के कुड़को, चिरकी, हरलाडीह, मधुबन, पालगंज, भारती चलकरी, डुमरी के ससारको, नागाबाद, परसाबेडा, जरीडीह, सुईयाडीह सहित पारसनाथ पर्वत की तलहटी में स्थित इलाकों में लोगों ने खुलकर मतदान किया। पीरटांड़  इलाके के रहनेवाले एक करोड़ के इनामी नक्सली मिसीर बेसरा, अनल दा, चमन दा जैसे इनामी नक्सलियों की गृह पंचायतों में भी लोगों ने बेखौफ होकर मतदान कर जागरूक नागरिक होने का परिचय दिया। मतदान को लेकर लोगों में जबर्दस्त उत्साह का माहौल था. इसका अनुमान सहज ही लगाया जा सकता है कि नक्सल ग्रसित हरलाडीह के बूथ संख्या 271 में सुबह 5 बजे से लोग कतार में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। इस बूथ में कूल 960 मतदाताओं में से पौने बारह बजे तक 403 मतदाताओं ने मतदान कर दिया था और लगभग 150 से अधिक महिला-पुरुष 40 डिग्री सेल्सियस में भी अपनी बारी के इंतजार में खड़े थे, जिसमें कई लोग धूप से बचने के लिए छाता लगाये हुए थे। दोनों विस क्षेत्रों में भारी गर्मी के बावजूद दोपहर तीन बजे तक अपेक्षित मतदान हुआ। जानकारी के मुताबिक गिरिडीह में तीन बजे तक 58 .35 % और डुमरी में 60 . 09 % फीसदी मतदान हो गया था।

शहरी क्षेत्र के कई बूथों पर लम्बी कतारें नहीं थी

गिरिडीह शहरी क्षेत्र में भी लोगों ने खुलकर मतदान किया. बरवाडीह, सेन्ट्रलपीठ, मंगरोडीह, बुढ़ियाखाद, बनियाडीह, मोहनपुर, भंडारीडीह, चेताडीह, मकतपुर, बरगण्डा  सहित कई अन्य मतदान केन्दों में लोगों ने बढ़-चढ़कर मतदान किया। मतदान शुरु होते ही राज्यसभा सांसद डा. सरफराज अहमद, विधायक सुदिव्य सोनू, पूर्व विधायक निर्भय शाहाबादी व भाजपा नेता दिनेश यादव ने अपने परिवार के साथ मतदान किया। हालांकि शहरी क्षेत्र के ही कई बूथों पर लम्बी कतारें नहीं देखी गई।

डीसी-एसपी ने कई मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया

मतदान दिवस के दिन गिरिडीह के उपायुक्त नमन प्रियेश लकड़ा और आरक्षी अधीक्षक दीपक कुमार शर्मा मतदान केन्द्रों के निरीक्षण के क्रम में लोगों से मतदान की अपील की। बताते चलें कि शनिवार को सुबह 7 बजे सभी बूथों पर मतदान कार्य शुरू हुआ. इस दौरान नमन प्रियेश लकड़ा एवं आरक्षी अधीक्षक दीपक कुमार शर्मी ने विभिन्न मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर उचित एवं सुचारू चुनाव कार्यों के संचालन को लेकर मतदान पदाधिकारियों/कर्मियों को दिशा निर्देश दिए एवं मतदाताओं से मिलकर उनका उत्साहवर्धन किया। इस दौरान उन्होंने हनी होली स्कूल, राजकीय नेहरू विद्यालय, आंगनबाड़ी केंद्र सिमरिया घोड़ा, मतदान केंद्र संख्या 104 और 105 समेत अन्य मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

डीसी ने मतदान केंद्रों पर वोटरों को प्रोत्साहित भी किया

डीसी मतदान केंद्रों के निरीक्षण के क्रम में बूथों पर मौजूद कई मतदाताओं से मुलाकात कर उन्हें मतदान के प्रति प्रोत्साहित किया गया। इस दौरान उन्होंने 06-गिरिडीह लोकसभा में स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण एवं भयमुक्त वातावरण में मतदान संपन्न कराने को लेकर सभी संबंधित पदाधिकारियों/कर्मियों को आवश्यक निर्देश दिया। वैसे सभी बूूूूथों पर सुरक्षा-व्यवस्था दुरुस्त थी. कई मतदान केंद्रों में पंडाल बनाए गए थे और पानी की व्यवस्था की गई थी.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments