30.1 C
Ranchi
Thursday, June 13, 2024
Advertisement
HomeLocal NewsGiridihकोडरमा लोस सीट पर 42 हजार मतदाताओं को कोई प्रत्याशी पसंद नहीं आया,...

कोडरमा लोस सीट पर 42 हजार मतदाताओं को कोई प्रत्याशी पसंद नहीं आया, 3.1 प्रतिशत वोटरों ने नोटा का गुलाबी बटन दबाया

गिरिडीह, (संदीप वर्मा) : 18वीं लोस के लिए कोडरमा सीट पर इस बार 42 हजार 152 मतदाताओं को कोई प्रत्याशी पसंद नहीं आया है और उन लोगों ने नोटा का गुलाबी रंग का बटन दबाया है। नोटा कोडरमा में तीसरे नंबर पर रहा है। 3.1 प्रतिशत वोटरों ने इस चुनाव में सभी प्रत्याशियों को नकार दिया है। झामुमो से बागी होकर कोडरमा सीट से भाग्य अजमा रहे गाण्डेय के पूर्व विधायक प्रो. जय प्रकाश वर्मा को नोटा से भी कम मत मिले हैं। प्रो. जय प्रकाश को 23 हजार 223 मत अर्थात् 1.7 प्रतिशत मत मिले हैं। नोटा को हर विधानसभा में वोट मिला है। निर्वाचन आयोग ने नोटा का मकसद उन मतदाताओं को विकल्प उपलब्ध कराना है, जो किसी कैंडिडेट को वोट नहीं डालना चाहते। नोटा का मतलब ‘नन ऑफ द एबव‘ यानी इनमें से कोई नहीं, है। अब चुनाव में वोटरों के पास नोटा के रूप में एक विकल्प होता है कि वे ‘इनमें से कोई नहीं‘ का बटन दबा सकते हैं। कोई वोटर अगर इस बटन को दबाता है तो, इसका मतलब यह है कि उसे चुनाव लड़ रहे कैंडिडेट में से कोई भी उम्मीदवार पसंद नहीं है।

वोटों की गिनती की समय नोटा पर डाले गए वोट को भी गिने जाते हैं

बता दें कि नोटा की शुरूआत भारतीय निर्वाचन आयोग के निर्देश पर दिसंबर 2013 के विधानसभा चुनावों से हुई है। पहली बार उसी दौरान इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में इनमें से कोई नहीं या नोटा बटन का विकल्प उपलब्ध कराया गया था। वोटों की गिनती की समय नोटा पर डाले गए वोट को भी गिना जाता है। नोटा में कितने लोगों ने वोट किया, इसका भी आंकलन किया जाता है। जब नोटा की व्यवस्था नहीं थी, तब चुनाव में मतदाता वोट नहीं कर अपना विरोध दर्ज कराते थे। इस तरह बड़ी संख्या में मतदाताओं का वोट जाया हो जाता था। इसके समाधान के लिए नोटा का विकल्प लाया गया ताकि चुनाव प्रक्रिया और राजनीति में शुचिता कायम हो सके।

कोडरमा विस में सबसे अधिक 7 हजार 836 वोटों पर नोटा के बटन दबे

कोडरमा लोकसभा सीट के अंतर्गत छह विधानसभा क्षेत्र हैं। कोडरमा विस में सबसे अधिक 7 हजार 836 वोट नोटा को पड़ा है। वहीं धनवार में 7 हजार 577, गाण्डेय में 6 हजार 872, बगोदर में 6 हजार 708, बरकट्ठा में 6 हजार 671 एवं जमुआ विस में 6 हजार 425 वोटरों ने नोटा का विकल्प चुना है। पोस्टल बैलेट के माध्यम से भी 63 वोटरों ने नोटा को वोट किया है।

गाण्डेय उप चुनाव में 4219 वोटरों ने दबाया नोटा

गाण्डेय विस पर हुए उप चुनाव 2024 में 4 हजार 219 वोटरों ने नोटा का प्रयोग इस बार किया है। गाण्डेय चुनाव परिणाम में 11 प्रत्याशियों में नोटा पाचवें स्थान पर रहा है। इस बार 1.94 प्रतिशत वोटरों ने नोटा को वोट किया है। पोस्टल बैलेट के माध्यम से भी 5 वोट नोटा को मिला है।

2019 में 3 प्रतिशत वोटरों चुना था नोटा का विकल्प

कोडरमा लोकसभा सीट पर 2019 के चुनाव में नोटा 14 प्रत्याशियों में चौथे नंबर पर था। 31 हजार 164 मतदाताओं ने गुलाबी बटन दबाया था। 3 प्रतिशत मतदाताओं ने सभी प्रत्याशियों को नाकार दिया था।

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments